ⓘ मुक्त ज्ञानकोश. क्या आप जानते हैं? पृष्ठ 168

नाट्य शास्त्र

नाटकों के संबंध में शास्त्रीय जानकारी को नाट्य शास्त्र कहते हैं। इस जानकारी का सबसे पुराना ग्रंथ भी नाट्यशास्त्र के नाम से जाना जाता है जिसके रचयिता भरत मुनि थे। भरत मुनि का जीवनकाल ४०० ईसापूर्व से १०० ई के मध्य किसी समय माना जाता है। संगीत, नाटक ...

पोएटिक्स

पोएटिक्स अरस्तु द्वारा लगभग ३५० ई.पू। में लिखी गई साहित्य चिंतन और सिद्धांत संबंधी पुस्तक है। यह नाट्य सिद्धांत संबंधी विश्व की सर्वाधिक प्राचीन उपलब्ध पुस्तक है। यह पाश्चात्य साहित्य सिद्धांतों का विस्तृत परिचय देने वाली पहली पुस्तक है। इसमें अर ...

राधेश्याम कथावाचक

राधेश्याम कथावाचक पारसी रंगमंच शैली के हिन्दी नाटककारों में एक प्रमुख नाम है। उनका जन्म 25 नवम्बर 1890 को उत्तर-प्रदेश राज्य के बरेली शहर में हुआ था। अल्फ्रेड कम्पनी से जुड़कर उन्होंने वीर अभिमन्यु, भक्त प्रहलाद, श्रीकृष्णावतार आदि अनेक नाटक लिखे ...

राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय

राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय, रंगमंच का प्रशिक्षण देने वाली सबसे महत्वपूर्ण संस्था है जो दिल्ली में है। इसकी स्थापना संगीत नाटक अकादमी ने 1959 में की थी। यह भारत सरकार के अंतर्गत एक स्वशासी संस्थान है।

शृंगार रस

श्रृंगार मुख्यत: संयोग तथा विप्रलंभ या वियोग के नाम से दो भागों में विभाजित किया जाता है, किंतु धनंजय आदि कुछ विद्वान् विप्रलंभ के पूर्वानुराग भेद को संयोग-विप्रलंभ-विरहित पूर्वावस्था मानकर अयोग की संज्ञा देते हैं तथा शेष विप्रयोग तथा संभोग नाम स ...

एक्रो डांस

एक्रो डांस नृत्य की एक शैली है जिसमे शास्त्रीय नृत्य की तकनीक के साथ एक्रोबैटिक के तत्व सूक्ष्मता से जुड़े होते हैं। यह हृष्ट-पुष्ट चरित्र द्वारा परिभाषित, अपनी अनूठी नृत्यकला, जिसमे नृत्य और कलाबाजी का बेजोड़ मिश्रण है और इसमें कलाबाजी का उपयोग ...

हिप हॉप नृत्य

हिप-हॉप नृत्य मुख्यतः हिप-हॉप संगीत पर किए जाने वाले सामाजिक नृत्य या कोरियोग्राफ की गयी नृत्य शैली से संदर्भित है या फिर उसके लिए जो या फिर हिप-हॉप संस्कृति का भाग है. इनमें विभिन्न तरह की शैलियां विशेष रूप से ब्रेकिंग, लॉकिंग और पॉपिंग शामिल है ...

करण (नृत्य)

1) तालपुष्पपुटम् 2) Vartitam 3) Valitōrukam 4) Apaviddam 5) Samanakam 6) Līnam 7) Swastikarēchitam 8) Manḍalaswastikam 9) Nikuṭṭakam 10) Ardhanikuṭṭam 11) Kaṭīchinnam 12) Ardharēchitam 13) Vakśaswastikam 14) Unmattam 15) Swastikam 16) Pṛṣṭhaswast ...

जैज़ नृत्य

जैज़ नृत्य, नृत्य शैलियों की व्यापक श्रृंखला द्वारा सामान रूप से प्रयोग किया जाने वाला एक वर्गीकरण है। 1950 के दशक से पहले, जैज़ नृत्य उन शैलियों को इंगित करता था जो अफ्रीकन अमेरिकन देशी नृत्यों से उपत्पन्न हुए होते थे। 1950 के दशक में, जैज़ नृत् ...

तिरुवातिरकली

तिरुवातिरकली या कैकोट्टिकलि केरल के दासियों द्वारा प्रदर्शन करते हुए एक बेहद लोकप्रिय नृत्य रूप है। यह एक समूह-नृत्य है और मुख्य रूप से ओणम और तिरुवातिरा के अवसर पर मनाया जाता है। महिलाएं या युवा, चाहे कोई भी हो इस अवसर पर अपने आपको भूलकर इस अवसर ...

नर्तक

तनुश्री शंकर. (Tanushree Shankar) गीता कपूर. (Gita Kapoor) मल्लिका साराभाई. (Mallika Sarabhai) पाली चंद्रा. (Pali Chandra) स्नेहा कपूर. (Sneha Kapoor) क्षत्रियम ओन्गबी थोरैनीसबी देवी. ममता शंकर. (Mamata Shankar) गौरी जोग. (Gauri jog) श्रुति मर्चे ...

नृत्य

नृत्य भी मानवीय अभिव्यक्तियों का एक रसमय प्रदर्शन है। यह एक सार्वभौम कला है, जिसका जन्म मानव जीवन के साथ हुआ है। बालक जन्म लेते ही रोकर अपने हाथ पैर माकर अपनी भावाभिव्यक्ति करता है कि वह भूखा है- इन्हीं आंगिक -क्रियाओं से नृत्य की उत्पत्ति हुई है ...

नृत्य अनुसंधान

नृत्य अनुसंधान नृत्य के अध्ययन के लिए प्रयुक्त किया जाने वाला व्यापक शब्द है। इसका उपयोग निम्न अर्थों में किया जाता है: नृत्य इतिहास नृत्य सिद्धान्त नृत्य विज्ञान

नृत्यरचना

नृत्य आदि के निमित्त शरीर के विभिन्न अंगों के संचालन के क्रम एवं रूप के डिजाइन को नृत्यरचना या कोरियोग्राफी कहते हैं। जो व्यक्ति, नर्तक या कलाकार इस कार्य को करता है, उसे नृत्यरचनाकार या नृत्यसंयोजक या कोरियोग्राफर कहते हैं।

बैले

बैले एक तरह का प्रदर्शन नृत्य है जिसकी उत्पत्ति 15वीं शताब्दी में इतालवी नवजागरण न्यायालयों में हुई और आगे चलकर फ्रांस, इंग्लैंड और रूस में इसे एक समारोह नृत्य शैली के तौपर और अधिक विकसित किया गया। इसकी शुरुआत रंगमंचों से पहले हुई और इन्हें बड़े ...

भरतनाट्यम्

भरतनाट्यम् या सधिर अट्टम मुख्य रूप से दक्षिण भारत की शास्त्रीय नृत्य शैली है। इस नृत्यकला मे भावम्, रागम् और तालम् इन तीन कलाओ का समावेश होता है। भावम् से भ, रागम् से और तालम् से त लिया गया है। इसी लिए भरतनात्यम् यह नाम अस्तित्व मे आया है। यह भरत ...

भारत के नृत्य

नृत्य का इतिहास, मानव इतिहास जितना ही पुराना है। इसका का प्राचीनतम ग्रंथ भरत मुनि का नाट्यशास्त्र है। लेकिन इसके उल्लेख वेदों में भी मिलते हैं, जिससे पता चलता है कि प्रागैतिहासिक काल में नृत्य की खोज हो चुकी थी। इस काल में मानव जंगलों में स्वतंत् ...

रंजना गौहर

रंजना गौहर प्रसिद्ध ओडिसी नृत्यांगना, केरियोग्राफर तथा फिल्म निर्मात्री हैं। उन्हे पद्मश्री व संगीत नाटक अकादमी के पुरस्कार से भी नवाजा जा चुका है। वह ओडिसी नृत्य के संदर्भ में एक किताब भी लिख चुकी हैं।

रस और भाव

रस वह गुणवत्ता है जो कलाकाऔर दसकार के बीच समझ उत्पन्न करती है। सबदिका स्तर पर रस का मतलब वह है जो चखा जा सके या जिसका आनंद लिया जा सके। नाट्य शास्त्र के छठे पाठ में, लेखक भरत ने संस्कृत में लिखा है विभावानूभावा व्याभिचारी स़ैयोगीचारी निशपाथिहि" अ ...

राघव जुयाल

girl friend =शक्ति मोहन राघव जुयाल जन्म 10 जुलाई 1991 एक भारतीय फ़िल्म अभिनेता,नृतक तथा कोरियोग्राफर है। इन्होंने कई वास्तविक कार्यक्रमों में अभिनय किया है इनके अलावा ये एबीसीडी 2 नामक 2015 की हिंदी फ़िल्म में भी नज़र आये। डांस इण्डिया डांस लिटल ...

राष्ट्रीय फ़िल्म पुरस्कार - सर्वश्रेष्ठ नृत्य संयोजन

राष्ट्रीय फ़िल्म पुरस्कार - सर्वश्रेष्ठ नृत्य संयोजन ये राष्ट्रीय फ़िल्म पुरस्कार कि एक श्रेणी हैं। इस श्रेणी के विजेता को फ़िल्म में नृत्यरचना के कार्य के लिये रजत कमल प्रदान किया जाता हैं। यह पुरस्कार १९९१ में ३९वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों प ...

रोबोट (नृत्य)

रोबोट एक आभासी स्ट्रीट नृत्य शैली का नृत्य है - इसे अक्सर भूलवश पौपिंग समझ लिया जाता है - यह नृत्य करते हुए रोबोट अथवा मेनिक्विन की नक़ल करने का प्रयास करता है। रोबोटिंग को प्रसिद्धि दि जैकसंस के नृत्य "डांसिंग मशीन्स" के बाद से प्राप्त हुई।

हस्तलक्षणदीपिका

हस्तलक्षणदीपिका एक ग्रन्थ है जिसमें हस्तमुद्राओं के बारे में विशद वर्णन है। इसमे २४ मूल मुद्राएं बतायी गयी हैं। इन मुद्राओं के मेल से सैकड़ों मुद्राएँ बनती हैं। हस्तमुद्राएं एक सम्पूर्ण सांकेतिक भाषा के अंग हैं जिनके माध्यम से कोई मेधावी कलाकार स ...

हाका

हाका दक्षिण प्रशांत महासागर में स्थित द्वीपों का एक पारम्परिक नाच है। न्यू ज़ीलैंड के रग्बी के खिलाड़ी अपने मुक़ाबलों से पहले इसके माओरी रूप का प्रदर्शन करते हैं, जिस से यह विश्व भर में पहचाना जाने लगा है। इसे एक समूह में आक्रामक मुद्राओं में पैर ...

सबसे ऊंची मूर्तियों की सूची

यहाँ विश्व के सबसे ऊंची प्रतिमाओं की सूची दी गई हैं, जिसमें उन प्रतिमाओं को शमिल किया गया है, जो कम से कम 30 मीटर लंबी हैं, जोकि रोड्स का कॉलॉसस की अनुमानित ऊंचाई मानी गई है।

गंडभेरुंड

गंडभेरुंड एक काल्पनिक पक्षी जिसका अंकन भारतीय कला में पाया जाता है। इसके एक धड़ गरुड़ के सदृश होता है। यह अपने दोनों चोंच तथा पंजे में हाथी दबोचे अंकित किया जाता है। इसका प्राचीनतम अंकन विजयनगर के आरंभकालिक कतिपय सिक्कों पर पाया जाता है दक्षिण के ...

चित्रलक्षणम्

चित्रलक्षणम् एक संस्कृत ग्रन्थ है जो तिब्बत से प्राप्त हुआ। इसके रचयिता नग्नजित् हैं। यह भारतीय कला विषयक प्राचीन ग्रन्थ है। प्राप्त ग्रन्थ में तीन अध्याय हैं।

तुम्बा शिल्प

भारत में कृषि के बाद सबसे ज्यादा आय कला जगत से प्राप्त होती है। भारत मे लगभग ८६ लाख गांव है, जिसके हर गांव मै कोई-ना-कोई शिल्प प्रेक्टिस की जाती है, इनमे से तुम्बा शिल्प छत्तीसगढ़ राज्य के बस्तर जिले के कई गांवो में आदिवासी लोगों द्वारा प्रेक्टिस ...

तेय्यम

तेय्यम, केरल के उत्तर मलबार इलाके की एक प्रमुख पूजा अनुष्ठान है। यह अनुष्ठान, मुख्य रूप में कोलत्तु-नाड इलाके मे और कर्णाटक के कोडगु और तुलुनाडु इलाके में एक जीते-जागते पंथ के रूप मे दो हजार साल पुरानी रीति और विधिओं से निष्पादित किया जाता है। ते ...

त्रिमूर्ति प्रतिमा

त्रिमूर्ति भारतीय कलाओं में वह आकृति है जिसे ब्रह्मा, विष्णु और महेश को एक ही ग्रीवा पर तीन शीष के रूप में चित्रित किया जाता है। इस आकृति का प्रयोग मंदिरों, चित्रकला, मूर्तिकला तथा अनेक स्थलों पर पाया जाता है। भारतीय साहित्य और पुराण में इन तीनों ...

दशावतार (हाथीदांत निर्मित लघुमंदिर)

हिन्‍दू धर्म में त्रिमूर्ति की मान्‍यता है - ब्रह्मा, विष्‍णु और महेश।। ब्रह्मा सृष्टि के सर्जक, विष्‍णु पालक और शिव सृष्टि के संहारक माने जाते हैं। कहा जाता है कि विष्‍णु ने अलग-अलग युगों में भिन्‍न-भिन्‍न अवतार लिए। महाभारत, विष्‍णु पुराण, गरुड ...

बौद्ध कला

बौद्ध कला से आशय बौद्ध धर्म से प्रभावित कलाओं से है। अन्य कलाओं के अतिरिक्त इसमें वे सभी कला माध्यम हैं जिनमें महात्मा बुद्ध, बोधिसत्व तथा अन्य का निरूपण है, उल्लेखनीय बौद्ध व्यक्तित्व, मण्डल, वज्र, घण्टे, स्तूप, तथा बौद्ध मंदिर शिल्प। बौद्ध कला ...

भारत कला मेला

भारत कला मेला, भारत का एक कला मेला है जो प्रतिवर्ष नयी दिल्ली में लगता है। इसे पहले इण्डिया आर्ट समिट कह जाता था। इसमें समसामयिक तथा आधुनिक भारतीय कला का प्रदर्शन होता है।

भारत स्वाभिमान परियोजना

भारत स्वाभिमान परियोजना) कला से जुड़े उत्साहियों का एक समूह है जो सामाजिक मीडिया का उपयोग करके भारत के मन्दिरों से चुराए गये धार्मिक कलाकृतियों की पहचान करते हैं और उनकी वावसी सुनिश्चित करते हैं। इस परियोजना का वित्तपोषण सिंगापुर में बसे दो लोग क ...

भारतीय मूर्तिकला

भारत की एक दीर्घ मूर्तिकला-परम्परा है जिसकी खोज नवपाषाणिक संस्कृतियों में की जा सकती है, हालांकि पुरातात्तिवक दृष्टि से विकास के निरन्तर लम्बे प्रक्षेप पथ को तीसरी शताब्दी र्इसापूर्व से आगे खोजा जा सकता है। भारतीय उपमहाद्वीप में कला को र्इश्वर की ...

शब्दकोश

अनुवाद
Free and no ads
no need to download or install

Pino - logical board game which is based on tactics and strategy. In general this is a remix of chess, checkers and corners. The game develops imagination, concentration, teaches how to solve tasks, plan their own actions and of course to think logically. It does not matter how much pieces you have, the main thing is how they are placement!

online intellectual game →